जब ध्यान मे बैठते है तो मन मे ना जाने कैसे ख्याल आने लगते है क्या करे? || Question Answer-2 ||

Spread the loveजब ध्यान मे बैठते है तो मन मे ना जाने कैसे ख्याल आने लगते है क्या करे?   इस पर एक बहुत ही सुन्दर  वर्णन आता है ओशो सुत्र- 1 घंटा काल्पना को छूट  का मतलब रोज……👇 एक घंटा रोज आंख बंद करके, कल्पना को खुली छूट दो। कल्पना को पूरी खुली छूट दो। … Continue reading जब ध्यान मे बैठते है तो मन मे ना जाने कैसे ख्याल आने लगते है क्या करे? || Question Answer-2 ||