Osho World

रोना

Spread the love
🌹🌹☀️☀️🌹🌹

रोना , (आंसू )

रोने का अर्थ क्या है? रोने का अर्थ है: कोई भाव इतना प्रबल हो गया है कि अब आंसुओं के अतिरिक्त उसे प्रकट करने का कोई और उपाय नहीं है। फिर वह भाव चाहे दुख का हो, चाहे आनंद का हो।

आंसू अभिव्यक्ति के माध्यम हैं। गहन भावनाओं को,जो हृदय के गहरे से उठती हैं, वे आंसुओं में ही प्रकट हो सकती हैं। शब्द छोटे पड़ते हैं। गीत छोटे पड़ते हैं। जहां गीत चूक जाते हैं, वहां आंसू शुरू होते हैं। जो किसी और तरह से प्रकट नहीं होता वह आंसुओं से प्रकट होता है। आंसू तुम्हारे भीतर कोई ऐसी भाव-दशा से उठते हैं जिसे सम्हालना और संभव नहीं है, जिसे तुम न सम्हाल सकोगे, जिसकी बाढ़ तुम्हें बहा ले जाती है।

फिर, ये आंसू चूंकि आनंद के हैं, इनमें मुस्कुराहट भी मिली होगी, इनमें हंसी का स्वर भी होगा। और चूंकि ये आंसू अहोभाव के हैं, इनमें गीत की ध्वनि भी होगी। तो गाओ भी,रोओ भी, हंसो भी–तीनों साथ चलने दो। कंजूसी क्या? एक क्यों? तीनों क्यों नहीं?

लेकिन, मन हिसाबी-किताबी है। वह सोचता है: एक करना ठीक मालूम पड़ता है–या तो गा लो या रो लो। मैं तुमसे कहता हूं कि इस हिसाब को तोड़ने की ही तो सारी चेष्टा चल रही है। यही तो दीवाने होने का अर्थ है।

तुमने अगर कभी किसी को रोते, हंसते, गाते एक साथ देखा हो, तो सोचा होगा पागल है। पागल ही कर सकता है इतनी हिम्मत। होशियार तो कमजोर होता है, होशियारी के कारण कमजोर होता है। होशियार तो सोच-सोच कर कदम रखता है, सम्हाल-सम्हाल कर कदम रखता है। उसी सम्हालने में तो चूकता चला जाता है।

होशियारों को कब परमात्मा मिला! होशियार चाहे संसार में साम्राज्य को स्थापित कर लें, परमात्मा के जगत में बिलकुल ही वंचित रह जाते हैं। वह राज्य उनका नहीं है। वह राज्य तो दीवानों का है। वह राज्य तो उनका है जिन्होंने तर्क-जाल तोड़ा, जो भावनाओं के रहस्यपूर्ण लोक में प्रविष्ट हुए।

इन तीनों द्वारों को एक साथ ही खुलने दो। परमात्मा ने हृदय पर दस्तक दी, तब ऐसा होता है। इसे सौभाग्य समझो।

ओशो
पद घुँघरू बांध, प्रवचन #20

☀️🙏☀️

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

4 Comments

  • Will

    Does your blog have a contact page? I’m having trouble locating it but, I’d like to shoot you an email.
    I’ve got some ideas for your blog you might be interested
    in hearing. Either way, great blog and I look forward to seeing it expand over time.
    It is appropriate time to make some plans for the future and
    it’s time to be happy. I’ve read this post and if I may just I wish
    to suggest you some fascinating things or suggestions.

    Perhaps you can write next articles relating to this article.
    I want to read even more issues about it! I want to to
    thank you for this good read!! I certainly enjoyed every bit of it.
    I’ve got you bookmarked to look at new things you http://alienware.com/

  • Jim

    These are actually impressive ideas in about blogging. You
    have touched some nice points here. Any way keep up wrinting.
    I like it when individuals come together and share views.
    Great website, keep it up! It is perfect time to make some plans for the future and it’s time to be happy.
    I’ve read this post and if I may just I want to
    suggest you some attention-grabbing issues or suggestions.
    Perhaps you can write subsequent articles regarding this article.
    I want to learn more issues approximately it!
    http://Nestle.com

  • successful business

    Excellent goods from you, man. I have understand your stuff previous to and you are just extremely magnificent.
    I really like what you have acquired here, certainly like what you are stating and the way in which you say
    it. You make it enjoyable and you still care for
    to keep it sensible. I can’t wait to read far more from you.

    This is really a wonderful website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *