ओशो … मानसिक अशांति से बचने के लिए …ô

Spread the love

“यदि कोई मस्तिष्क को प्रति घण्टा 20 से 30 सेकेंड के लिए भी खाली रखने में सफल हो जाता है जो थोड़े से अभ्यास से ही सम्भव है तो वह …
तनाव
अवसाद
नकारात्मक विचार
मानसिक अशांति जैसी अनेक दुःखद अनुभवों से बचा रहता है …
ऐसा साधक जीवंतता से भरा होता है और शांतिपूर्ण ढंग से न केवल जीवन को जीता है बल्कि सभी विषयों में संतुलन के साथ प्रतिक्रिया करता है ।
ऐसा करने वाला “द्वंद” से मुक्त होता है , उसका किसी भी सम्बंध में निर्णय बहुत स्पष्ट रहता है ।
🍁

Leave a Comment