ओशो कथाएँ-22 संभोग से समाधि तक ….. युवक और सेक्स ओशो

संभोग से समाधि की और 🙏🙏ओशो युवक और सेक्स Bhart ka Yuvaa तरफ सेक्‍स घूमता रहता है पूरे वक्‍त। और इस घूमने के कारण उसकी सारी शक्‍ति इसी में लीन और नष्‍ट हो जाती है। जब तक Bhar ke log सेक्‍स के इस रोग से मुक्‍ति नहीं होती, तब तक Continue Reading