Life changing thoughts of osho in Hindi

Life Changing thoughts

भय और प्रेम भय और प्रेम साथ-साथ हो कैसे सकते हैं? Osho is ke liye btate h इतना भय कि पति कहीं किसी स्त्री की आँख में न आँख डाल कर देख लें! तो फिर प्रेम घटा ही नहीं है। फिर तुम्हारी आँख में आँख डालकर पति ने नहीं देखा और न तुमने पति की […]

जब ध्यान मे बैठते है तो मन मे ना जाने कैसे ख्याल आने लगते है क्या करे? || Question Answer-2 ||

जब ध्यान मे बैठते है तो मन मे ना जाने कैसे ख्याल आने लगते है क्या करे?   इस पर एक बहुत ही सुन्दर  वर्णन आता है ओशो सुत्र- 1 घंटा काल्पना को छूट  का मतलब रोज……👇 एक घंटा रोज आंख बंद करके, कल्पना को खुली छूट दो। कल्पना को पूरी खुली छूट दो। वह किन्हीं […]

Scroll to top