सियार सिंगी (SIYAR SINGI) क्या है ?

सियार , जिसके आमतौर पर कोई सींग नहीं होता है, लेकिन जब वह झुकता है, तो उसके माथे पर सींगों के साथ बालों का एक छोटा सा गुच्छा पैदा होता है। इसे बहुत पवित्र माना जाता है और इसे सियार सिंघी के नाम से जाना जाता है।

SIYAR SINGI AUR HATHA JODI

वास्तव में सियार के सींग नहीं होते, लेकिन कुछ सियारो की नाक के ऊपर बालों का गुच्छा हो जाता है। धीरे-धीरे यह सख्त और बड़ा होकर सींग जैसा हो जाता है, इसे सियार सिंगी कहते हैं

और यह हजारों सियारों में से किसी एक की नाक पर होता है। यह छोटे, मध्यम और बड़े आकार का हो सकता है।

सियार सिंगी से क्या फायदा होता है?

सियार सिंगी को घर में रखने से धन का आगमन, धन की बचत और व्यक्ति की मनोकामनाएं स्वत: ही पूरी होने लगती हैं। व्यापार या नौकरी में तरक्की के लिए सियार सिंघी बहुत फायदेमंद होती है,

कई बार ईर्ष्या के कारण कुछ लोग तंत्र मंत्र का प्रयोग करते हैं, जिससे दुकान में पैसा नहीं रहता है। ऐसे में सियार सिंघी के साथ हथकड़ी रखें, इन स्थितियों में उनका प्रयोग राम के बाण के समान है।


जिस व्यक्ति के पास यह है। उसे किसी चीज की कमी नहीं है। इसे घर में रखने से सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव होता है !


यदि इसे हाथ की जोड़ी के साथ रखा जाए तो यह बहुत शक्तिशाली हो जाता है और जातक धन-संपत्ति, वशीकरण, शत्रु शमन में समर्थ हो जाता है!

इसमें वशीकरण की अद्भुत शक्ति होती है। यदि यह सिद्ध हो जाए तो यह शक्ति हजारों गुना बढ़ जाती है। इसके द्वारा आप किसी से भी किसी भी प्रकार का मनचाहा कार्य करवा सकते हैं।

घर में सियार का सींग रखने से सौभाग्य और उन्नति के नए द्वार खुलने लगते हैं। सियार सिंगी को घर में रखने से शत्रु हथियार डाल देते हैं।

सियार सिंगी को सिद्ध कैसे करे ?


सियारअपने सामने लाल रंग का कपड़ा बिछाकर उस पर सियार सिंगी स्थापित करें। उस पर थोड़ा सा गंगाजल छिड़क कर उसे पवित्र कर लें।

सियार सिंगी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं। एक लाल रंग का कपड़ा बिछाकर आप भी उस पर बैठ जाएं। अब सियार सिंघी के ऊपर कुछ चावल, पांच इलायची और पांच लौंग चढ़ाएं। ऐसा करने के बाद मंत्र का 21 बार रोज करें।

मंत्र

“ओम नमो भगवती पद्म श्रीं ओम हरीम, पूर्वा दक्षिण उत्तर पश्चिम धन द्रव्य आवे, सर्व जन्य वश्य कुरु कुरु नमः”

बुधवार के दिन लाल रंग का कपड़ा बिछाकर एक स्टील की थाली में पर सियार सिंगी स्थापित करें। उस पर थोड़ा सा गंगाजल छिड़क कर उसे पवित्र कर लें।

सियार सिंगी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं। एक लाल रंग का कपड़ा बिछाकर आप भी उस पर बैठ जाएं।

अब सियार सिंघी के ऊपर कुमकुम या केसर से तिलक करना होगा और चावल और फूल, पांच इलायची और पांच लौंग चढाकर सियार सिंगी के सामने आपको बताए गए मंत्र का 108 बार जप करना होगा। ।

जप के बाद अब इसे सावधानी से एक डिब्बे में रख दें। फिर इसे अपनी दुकान में किसी सुरक्षित स्थान पर रख दें और फिर इसी मंत्र का 21 बार जाप करें। ऐसा करने पर साधक स्वयं अपने व्यापार में प्रगति देख सकता है।

ध्यान दे………….

सियार सिंघी के उपयोग
(1) धन और संपत्ति पाने के लिए
(2) सौभाग्यशाली होना
(3) किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करना
(4) पति-पत्नी के बीच अनबन समाप्त करना
(5) व्यापार में अधिक लाभ कमाने के लिए
(6) मनचाहा प्यार पाने के लिए
(7) किसी को अपनी ओर आकर्षित करना
(8) कर्ज मुक्त होना
(9) कोर्ट कचहरी में विजय प्राप्त करन

हत्था जोड़ी (HATHA JODI) क्या है ?

हत्था जोड़ी (HATHA JODI) तांत्रिक क्रिया में प्रयोग की जाने वाली एक बहुत ही दुर्लभ वस्तु है। यह अपामार्ग नामक जंगली पौधे की जड़ के रूप में पाया जाता है।

SIYAR SINGI AUR HATHA JODI –

लेकिन यह हर अपामार्ग की जड़ में नहीं पाया जाता, जब इन पौधों को उखाड़ा जाता है तो एक ही पौधे की जड़ में दो हाथ जैसी आकृति दिखाई देती है, वही हत्था जोड़ी (HATHA JODI) होता है।

इसमें प्राय: मनुष्य जैसे बनावट वाले हाथ पाए जाते हैं, जो नीचे की ओर से जुड़े होते हैं, कभी-कभी ये हाथ ऊपर की ओर भी जुड़े हुए पाए जाते हैं।

हत्था जोड़ी (HATHA JODI)के क्या फायदे हैं?

आखिर हत्था जोड़ी HATHA JODI किस काम की, इसे रखने से क्या-क्या फायदे होते हैं, तो मैं आपको साफ कर दूं कि इसका इस्तेमाल तांत्रिक से लेकर दुनियावी हर कोई करता है।

क्योंकि इसे अपने पास रखने से ही मां चामुंडा की असीम कृपा प्राप्त होने लगती है।

और जो व्यक्ति नियमित रूप से इसकी पूजा करता है, यह उसके दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदल देता है। जिस व्यक्ति KE PASS HATHA JODI होती है उसके काम कभी नहीं बिगड़ते।

उसे हर क्षेत्र में सफलता मिलती है, कोर्ट कचहरी के वाद-विवाद व मुकदमों में विजय प्राप्त होती है। आइए एक-एक करके जानते हैं कि इसके और क्या फायदे हैं।

हत्था जोड़ी क तंत्र शास्त्र में इन दोनों चीजों को बम कहा गया है, जिस व्यक्ति के पास सिद्ध हत्था जोड़ी और सियार सिंघी हो, वह व्यक्ति अपने लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर लेता है।

इन दोनों चीजों में मंत्रों को ग्रहण करने की अपार शक्ति होती है, क्या है इनकी पहचान और ये कैसे दिखते हैं, आइए जानते हैं इनके बारे में।

1 सिद्ध हत्था जोड़ी को अपने घर में रखने से परिवार पर किसी भी तरह के जादू टोने का असर नहीं पड़ता है।

2- जिस व्यक्ति के पास यह होता है उसके शत्रु स्वयं झुककर क्षमा मांगते हैं।

3- समाज में किसी भी प्रकार के आरोप-प्रत्यारोप से व्यक्ति की रक्षा होती है तथा कोर्ट कचहरी के मामलों में विजय प्राप्त होती है, निर्णय उनके पक्ष में होते हैं.

4- व्यक्ति को सामाजिक और राजनीतिक सम्मान मिलने लगता है, सरकारी सत्ता का भी लाभ मिलता है, पदोन्नति मिलती है, रुके हुए काम बन जाते हैं।

5- हत्था जोड़ी की नियमित पूजा से धन में वृद्धि होती है और व्यापार में समृद्धि आती है, व्यापार फलता-फूलता है।

6- रोग व गंभीर रोग से मुक्ति मिलती है।

7- जिस घर में नियमित रूप से हठ जोड़ी की पूजा की जाती है उस घर के सभी सदस्यों की तरक्की होती है और दांपत्य सुख में भी वृद्धि होती है।

8- सम्मोहन शक्ति बढ़ती है, आकर्षण शक्ति का विकास होता है। हत्था जोड़ी का तांत्रिक प्रयोग आप इसका हर तरह से उपयोग कर सकते हैं,

और यदि आप सभी प्रकार के लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो चामुंडा देवी के मंत्रों से सिद्ध करें। मंत्र इस प्रकार है

ॐ ॐ ह्रीं क्लिंग चामुण्डाये विच्चे

इस मंत्र से सिद्ध करें|

सियार सिंघी और हत्था जोड़ी दोनो को एक साथ रखा जाना ही इन्हे सिद्ध करता है असीमित लाभ के लिए इन दोनो का ही
आह्वान करना चाहिए जिससे उसकी शक्ति कई गुना बढ़ जाती है और मनोकामनाएं भी पूरी कर सकते हैं।

इन्हे आप हमारी टीम को order कर के मंगवा सकते है

Whatsapp :- 82878 85045

https://thewheeloffortune369.com/: SIYAR SINGI AUR HATHA JODI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!