Tarot Card

सूर्य भगवान की पूजा करने के लाभ || सूर्य भगवान की पूजा किस तरह करनी चाहिए?

सूर्य भगवान की पूजा करके आप अपनी मनचाही मुराद पूरी कर सकते हैं आई यहां मैं आपको सूर्य भगवान की पूजा करने के लाभ और सूर्य भगवान की पूजा किस तरह करनी चाहिए उसके तरीके बता रही हूं …1….रविवार के दिन सूर्य भगवान की पूजा करने से मनचाही मुराद पूरी Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

धनवान होने के लिए सबसे अच्छी वितीय सलाह क्या है

धनवान होोने के लिए सबसे अच्छी वितीय सलाह ………      ♦♦ नियम संख्या 1— पैसा मत खोना। नियम संख्या 2 —नियम संख्या 1. मत भूलना …. (1) गूंगा गधा निवेश निर्णय लेने के लिए एक हजार तरीके हैं इन से दूर रहे.. (2) अपने नकदी की रक्षा करोअगर आप पैसा Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

श्री साईं कष्ट निवारणी

Table of Contents श्री साईं कष्ट निवारणीप्रार्थना :-हे मेरे मालिक साईं बाबा, मैं बिल्कुल नादान हूँ, मै नही जानती कि तुमसे क्या माँगू, जो तुम मेरे लिए उचित समझो वही दे दो।मुझे वह शक्ति, भक्ति और सद् बुद्धि प्रदान करो कि तुम जो कुछ भी दो और जहाँ और जैसे Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ- 21

ओशो कथाएँ  21 संसार की पूरी दौड़ के बाद आदमी के चेहरे को देखो, सिवाय थकान के तुम वहां कुछ भी न पाओगे। मरने के पहले ही लोग मर गए होते हैं। बिलकुल थक गए होते हैं। विश्राम की तलाश होती है कि किसी तरह विश्राम कर लें। क्यों इतने Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ-20

ओशो कथाएँ-  20 कहा जाता है कि अभिनेता-निर्देशक गुरुदत ने आत्महत्या की थी, और इस बात को मानने वाले इस बात को स्वीकार नहीं करते कि शराब और नींद की गोलियों के मिश्रण से यह एक दुर्घटना मात्र भी हो सकती थी पर तब भी यह प्रश्न उठना तो वाजिब Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ–19

झ ओशो कथाएँ -18 मैंने सुना है, ईजिप्त में एक बहुत पुराना मंदिर था। हजारों वर्ष पुराना मंदिर था। लेकिन उस मंदिर के देवता का कभी किसी ने कोई दर्शन नहीं किया था। उस देवता के ऊपर पर्दा पड़ा हुआ था। और पुजारी भी उसे नहीं छू सकते थे। सौ Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ–18

एक सम्राट के बडे वजीर की मृत्यु हो गई थी। उसके समक्ष राज्य के सर्वाधिक बुद्धिमान व्यक्ति को चुन कर वजीर बनाने का जटिल सवाल था। फिर अनेक प्रकार की परीक्षाओं के द्वारा अंततः तीन व्यक्ति चुने गए। अब उन तीन में से भी एक को चुना जाना था। उसकी Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ–17

❤ अंग्रेजी का बड़ा कवि हुआ। कहते हैं, उसने सैकड़ों स्त्रियों को प्रेम किया। वह जल्दी चुक जाता था, दो—चार दिन में ही एक स्त्री से चुक जाता था। सुंदर था, प्रतिष्ठित था, महाकवि था। व्यक्तित्व में उसके चुंबक था, तो स्त्रियां खिंच जाती थीं—जानते हुए कि दो—चार दिन बाद Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ-16

बंगाल में एक बहुत बड़ा वैयाकरण हुआ। कभी मंदिर नहीं गया। उसके पिता बूढ़े होने लगे थे, नब्बे साल की उम्र हो गयी पिता की। बेटा भी अब कोई सत्तर पार कर रहा है। आखिर पिता ने कहा कि तू कब जाएगा मंदिर, कब राम को पुकारेगा? तो बेटे ने Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

ओशो कथाएँ-15

बंगाल में एक बहुत बड़ा वैयाकरण हुआ। कभी मंदिर नहीं गया। उसके पिता बूढ़े होने लगे थे, नब्बे साल की उम्र हो गयी पिता की। बेटा भी अब कोई सत्तर पार कर रहा है। आखिर पिता ने कहा कि तू कब जाएगा मंदिर, कब राम को पुकारेगा? तो बेटे ने Continue Reading

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter